अध्याय-5: गलता लोहा

 

1 . गलता लोहा ‘ के लेखक कौन है ?

  • मन्नू भण्डारी
  • शेखर जोशी
  • मोहन राकेश
  • कृश्नचंदर

उत्तर

शेखर जोशी

2. बिरादरी के एक संपन्न परिवार के युवक रमेश के साथ वंशीधर ने अपने पुत्र मोहन को कहाँ भेजा ?

  • कानपुर
  • बनारस
  • लखनऊ
  • इलाहाबाद

उत्तर

लखनऊ

3. गलता लोहा ‘ पाठ में त्रिलोक सिंह को किस रूप में चित्रित किया गया है ?

  • एक अध्यापक के रूप में
  • एक वकील के रूप में
  • एक डाक्टर के रूप में
  • एक सलाहकार के रूप में

उत्तर

एक अध्यापक के रूप में

4. धनराम को मोहन के किस व्यवहार पर आश्चर्य हुआ ?

  • मोहन अपनी ऊँची जाति को भुलाकर लोहार का कार्य कर रहा था
  • मोहन द्वारा अपनी पढ़ाई करने पर
  • मोहन के खेती करने पर
  • मोहन के गाना गाने पर

उत्तर

मोहन अपनी ऊँची जाति को भुलाकर लोहार का कार्य कर रहा था

5. मोहन के पैर अनायास किस टोले की ओर मुड़ गये ?

  • लोहार
  • जमींदार
  • शिल्पकार
  • फिल्मकार

उत्तर

शिल्पकार

6. प्राइमरी स्कूल पार करते ही मोहन को छात्रवृत्ति प्राप्त हुई । किसकी भविष्यवाणी सच साबित हुई ।

उत्तर

त्रिलोक सिंह

7. गलता लोहा ” पाठ में स्कूल का मानीटर कौन है ?

उत्तर

मोहन

8. गलता लोहा ” शीर्षक किसके नष्ट होने का संकेत देता है ?

उत्तर

कुलीनता का अभिमान

9. लेखिका शेखर जोशी को कौन – सा सम्मान प्राप्त हुआ ?

उत्तर

पहल सम्मान

10. गलता लोहा ‘ का मोहन किसका चहेता शिष्य था ?

उत्तर

त्रिलोक सिंह

11. शेखर जोशी की कहानी ‘ गलता लोहा ‘ समाज के किस पक्ष को उजागर करता है ?

उत्तर

जातिगत विभाजन

12. गलता लोहा ‘ पाठ में मोहन के पिता वंशीधर तिवारी जीवनयापन किस प्रकार करते थे ?

उत्तर

पुरोहिताई से

13. तेरे दिमाग में तो लोहा भरा है रे ! विद्या का ताप कहाँ लगेगा इसमें । ” मास्टर त्रिलोक सिंह ने यह व्यंग्य वचन किससे कहा है ?

उत्तर

धनराम से

14. मोहन के प्रति धनराम के मन में क्या भावना थी ।

15. गलता लोहा ” साहित्य की किस विधा की रचना है ?

उत्तर

कहानी

16. लोहे की छड़ को किसने सोने में बदल दिया ।

उत्तर

मोहन

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.