अध्याय -4: आँकड़ों का प्रस्तुतीकरण

 

1. वे चित्र जिसमें आँकड़ों को दण्डों या आयतों के रूप में प्रकट किया जाता है?

  • पाई चित्र
  • विक्षेप चित्र
  • दण्ड चित्र
  • आवृत्ति वक्र

उत्तर

दण्ड चित्र

2. एक ओजाइव वक्र की सहायता से हम ज्ञात करते हैं ?

  • समांतर माध्य
  • मध्यिका
  • बहुलक
  • इनमें कोई नहीं

उत्तर

मध्यिका

3. काल माला के ग्राफ को कहते हैं?

  • कालिक चित्र
  • वित्त चित्र
  • आयत चित्र
  • वृत्त चित्र

उत्तर

कालिक चित्र

4. आँकड़ों के चित्रमय प्रदर्शन का उद्देश्य है अथवा , आँकड़ों का चित्रमय प्रदर्शन कहलाता है?

  • वर्गीकरण
  • सारांशित करना
  • प्रस्तुतीकरण
  • सारणीयन

उत्तर

प्रस्तुतीकरण

5. दो चरों के बीच पारस्परिक संबंध को प्रकट करने वाले चित्र को कहते हैं ?

  • माध्य
  • विक्षेप चित्र
  • मानचित्र
  • मध्यिका

उत्तर

विक्षेप चित्र

6. किसी ग्राफ पेपर में कितने चरण / चतुर्थांश होते हैं ?

7. आयत चित्र?

उत्तर

द्विविमी आरेख है

8. आयत चित्र के माध्यम से प्रस्तुत किए गए आँकड़ों से आलेखी रूप से निम्नांकित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ?

उत्तर

बहुलक

9. वृत्तीय चित्र में सभी मदों को बदल देते हैं?

उत्तर

कोणों में

10. चित्रमय प्रदर्शन का सबसे सरल रूप है ?

उत्तर

सरल दण्ड चित्र

11. एक परिवार के कुल मासिक व्ययों को प्रस्तुत करने के संबंध में । सबसे सटीक चित्र है ?

उत्तर

वृत्त चित्र

12. वृत्त चित्र का अन्य नाम है?

उत्तर

परिपत्र आरेख

13. काल श्रेणी बिन्नु रेखा को कहते हैं ?

उत्तर

कालिक चित्र

14. दण्ड चित्र है?

उत्तर

इनमें कोई नहीं

15. जब दो या दो से अधिक तथ्यों में तुलनात्मक अध्ययन करना हो तम किस चित्र का प्रयोग किया जाता है ?

उत्तर

सरल दण्ड चित्र

16. ग्राफ द्वारा किसकी गणना नहीं हो सकती ?

उत्तर

माध्य

17. Y- अक्ष का दूसरा नाम है?

उत्तर

मुजाक्ष

18. मध्यिका की गणना का आधार है?

उत्तर

ओजाइब वक्र

19. बहुलक को गणना का आधार है?

उत्तर

आवृत्ति आयत चित्र

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.